Home Social Media Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai – कोरोना वायरस क्या है...

Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai – कोरोना वायरस क्या है ?

436
0
Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai - Corona Virus Kya Hai ?
Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai - Corona Virus Kya Hai ?

(Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya) आज हम इस पोस्ट में इस विषय पर विस्तार से चर्चा करेंगे! क्योंकि पिछली पोस्ट में हम जान चुके हैं कोरोना वायरस क्या है? कैसे आप इस खतरनाक महामारी से बच सकते हैं।

दोस्तों दरअसल भारत में कोरोना वायरस का पहला मामला भारत के केरल राज्य में सुनने को मिला था! और वहां पहली बार 3 लोगों में इस वायरस के फैलने की बात सामने आई थी! परंतु डॉक्टरों ने जब इन तीनों संक्रमित व्यक्तियों का चेकअप किया तो पाया कि इनके रिजल्ट पॉजिटिव है।

लेकिन कुछ दिन बीते और समय के साथ कोरोना वायरस भारत के अन्य राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, बिहार, तमिलनाडु समेत कई राज्यों में फैल चुका था! और दुनिया के अनेक देशों में लोग इस समय इस वायरस से डरे हुए हैं।

भारत में भी शुक्रवार 6 मार्च 2020 तक कोरोना के अब तक कुल 31 मामले सामने आ चुके हैं! जिसमें से दिल्ली में कोरोना वायरस से पीड़ित एक व्यक्ति की अब तक मौत भी हो चुकी है।

लेकिन भारत में इस कोरोना वायरस की उत्पत्ति कैसे हुई? अर्थात कैसे पहली बार यह वायरस आया आइए जानते हैं।

Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya ?

चीन के वुहान शहर में दिसम्बर माह में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद भारत में! कोरोना वायरस की पहली पीड़ित 30 जनवरी को भारत के केरल राज्य में आने वाली एक युवती थी! 20 साल की इस मेडिकल छात्रा का जब डॉक्टरों ने चेकअप किया तो पाया यह पहली युवती है! जिसमें कोरोना वायरस के पॉजिटिव रिजल्ट देखने को मिले।

Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai

बता दें कोरोना वायरस का शिकार हुई! यह युवती 25 जनवरी 2020 को चीन के वुहान शहर से ही लौटी थी बतौर मेडिकल स्टूडेंट यह युवती वहां लगभग 3 साल से मेडिकल की पढ़ाई कर रही थी। लेकिन वुहान शहर में कोरोनावायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से लोगों में फैला जिसे देखते हुए युवती ने भारत आने का फैसला लिया।

कोरोना वायरस का शिकार हुई इस युवती का जब बीबीसी ने इंटरव्यू लिया तो वह बताती हैं! कि भारत में प्रवेश से पहले कोच्चि एयरपोर्ट में थर्मल स्कैनिंग के दौरान उनमें वायरस के कोई लक्षण पाए नहीं गए थे! और थर्मल स्कैनिंग में कोई भी ऐसा लक्षण नहीं दिखा जिससे यह पता किया जा सके कि मैं कोरोना वायरस का शिकार हूं।

आगे वे बताती हैं!

कि अगले ही दिन चीन के बीजिंग शहर में स्थित एक भारतीय दूतावास से उन्हें एडवाइजरी मिली जिसमें सूचना दी गई थी कि चीन से बाहर देश में जाने वाले सभी लोग अपना मेडिकल टेस्ट जरूर करवाएं।

युवती आगे कहती हैं!

कि इस सूचना को पाते ही जब वह अगले दिन किसी सरकारी अस्पताल में मेडिकल टेस्ट कराने गई तो वहां पर किए गए चेकअप में सब कुछ नॉर्मल था। लेकिन दो दिन बाद ही जब अगली सुबह वह उठती हैं! तो उनका गला खराब हो चुका था।

जिसे देखते हुए युवती को आशंका हुई कोरोना वायरस की तो उन्होंने अस्पताल की ओर रुख किया उनका कोरोनावायरस रिजल्ट पॉजिटिव पाया गया। तो दोस्तों इस प्रकार कोरोना वायरस की भारत में पहली बार एक मेडिकल छात्रा शिकार हुई! और उसके बाद से आज हम देश के अन्य राज्यों में भी रोजाना कोरोना वायरस के नए नए मामले सुन रहे हैं।

बीबीसी को दिए इंटरव्यू में यह युवती बताती है!

कि चीन के वुहान शहर से लौटने के बाद उन्होंने अस्पताल में तीन और लोगों को भी भर्ती किया गया था! लेकिन भर्ती हुए हम चार लोगों में से तीन लोगों को छुट्टी दे दी गई लेकिन मुझे रोक लिया गया! मुझे रोकने का कारण डॉक्टरों से पूछा तो डॉक्टर कहते हैं सब कुछ ठीक है आपको बस थोड़ी देर रुकना होगा रिपोर्ट्स आ रही है! अर्थात डॉक्टर मुझसे इस बात को छुपाना चाहते थे ताकि मुझे इस बात का डर न लगे।

Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya Hai

लेकिन युवती को जब शक हुआ जब उसे अन्य मरीजों से! थोड़ा अलग रखा गया और उनका इलाज हो रहा था! तभी उनके एक दोस्त ने कोरोना वायरस से इनफेक्टेड एक वीडियो क्लिप व्हाट्सएप पर सेंड की और युवती कहती है! जब मैंने उस क्लिप को ओपन किया तो उसमें यह सूचना दी गई थी कि वुहान से वापस लौटी एक मेडिकल छात्रा में कोरोना वायरस के पॉजिटिव रिजल्ट देखने को मिले हैं।।

और जैसे ही मेडिकल छात्रा ने वह news देखी वह समझ गई कि वही पहली युवती हैं! जो कोरोनावायरस से संक्रमित हुई है! कुछ देर बाद डॉक्टर उनके वार्ड पर आते हैं और उन्हें बताते हैं कि कोरोनावायरस में पॉजिटिव रिजल्ट मिले हैं! और उन्हें इलाज के लिए अब यहां कुछ समय तक रुकना पड़ेगा।

मेडिकल छात्रा बताती हैं!

कि डॉक्टरों द्वारा इन शब्दों को कहते हुए बिल्कुल भी उन्हें डर या झिझक महसूस नहीं हुई! तब तक वे बिल्कुल ठीक थी! और वे यह भली-भांति समझती थी कि कोरोना वायरस का इलाज सावधानी पूर्वक किया जाए! तो इसका उपचार संभव है और कब तक कई लोग इस वायरस से ठीक भी हुए हैं।

युवती आगे बताती हैं!

कि जैसे ही कोरोना वायरस की पुष्टि हुई तो प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मुझसे पूछा कि! आप अब तक भारत में किन-किन लोगों से मिली हैं! उन सबका नाम, पता इत्यादि डिटेल्स देने को कहा तथा अपने परिवार को भी इस मामले में सावधानी बरतने को कहा गया।

युवती कहती है!

कि उनकी मां और उन्हें दोनों को एक ही अस्पताल में परंतु अलग-अलग वार्ड में भर्ती किया गया जहां हम दोनों मिल नहीं सकते थे! तथा घर के अन्य सदस्यों को भी निगरानी में रखा गया का छात्रा बताती है! कि वह बतौर मेडिकल स्टूडेंट कोरोना वायरस म इलाज से परिचित थी! और इलाज के दौरान वह कभी भी घबराई नहीं।

वर्तमान समय में वह युवती पूरी तरह ठीक है!

और उन्हें भरोसा है कि जल्द ही इस वायरस से लोगों को मुक्ति मिलेगी। वह कहती है! कि अस्पताल में डॉक्टर एवं कर्मचारियों के अच्छे व्यवहार की वजह से उन्हें कभी भी घबराहट महसूस नहीं! हुई तथा कोरोना की इस जंग को जीतने से उनका कॉन्फिडेंस अब काफी बढ़ चुका है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस दुनिया के 100 देशों से भी अधिक शहरों में पहुंच चुका है! और इस समय 98000 से भी अधिक लोग कोरोनावायरस के प्रभाव में आ चुके हैं! और इनमें से मौत का आंकड़ा 3000 के पार पहुंच चुका है।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आपने जाना! कोरोना वायरस के प्रभाव के बारे में आपने जाना पहली बार Corona Virus Bharat Me Kaise Aaya? उम्मीद है! इस आर्टिकल में दी गई जानकारी पसंद आई होगी तो आप इस जानकारी को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here